Repo Rate Kya Hai ? हिंदी में सीखे

Repo Rate Kya Hai ? हिंदी में सीखे
आज बहुत ही अच्छी चीज आपको सिखने को मिलेगी क्योकि कोई भी देश की प्रगति उसके फाइनेंसियल condition पर निर्भर करती है और जब fund की बात आती है तो banking credit ये सब जरूरी होता है और जब advance की बात आती है तो ऐसे में financing cost की भी बात आती है लेकिन कभी आपको किसी news के माध्यम से सुनने को या पढने को मिलता होगा की इस बार repo rate घटा या बढ़ा है, ऐसे में आपके मन में भी इसके बारे में जानने की इच्छा होती होगी ऐसे में आज आप इस पोस्ट में जानेंगे की
Repo Rate Kya Hai  हिंदी में सीखे
Repo Rate Kya Hai  हिंदी में सीखे

Repo Rate Kya hai? 


इसको समझने से पहले आपको पहले ये समझना होगा की आखिर कोई भी आदमी advance कैसे लेता है और उसका process क्या होता है इसलिए आज आपको मै एक model से ही समझाऊंगा alright ना ?


चलिए तो समझते है की आखिर credit कैसे मिलता है किसी भी individual को और अगर कोई बैंक advance देता है तो कैसे देता है और उसके पास पैसा कहाँ से आता है ?

मान लीजिये की आपको credit लेना है तो आप बैंक के पास जायेंगे और बैंक आपको कहेगी की ठीक है अगर आप individual advance लेना चाहते है तो आपको मिलेगा लेकिन आपको 14% ब्याज लगेगा और आप concur हो जाते है की ठीक है इतना ब्याज के rate से advance दे दीजिये, लेकिन जब बैंक वाले अपने account में पैसा check करते है तो पता चलता है की उनके पास जितना पैसा था वो सब तो advertise में दिया हुआ है ऐसे में बैंक क्या करेगी ? क्या आपको वापस लौटा देगी ? नही , आपको लौटाएगी नही बल्कि वो भी अपने से ऊपर वाले बैंक से पैसा advance लेकर आपको फिर से credit देगी | अब आप पक्का सोच रहेंगे की यार ये क्या बात हुयी की बैंक भी किसी से advance लेती है ?


इसका जबाब है yes , देखिये बात ये है की हर nation में एक focal बैंक होता है जो की सिर्फ एक ही होता है जैसे की अपने देश में Reserve Bank of India जिसे RBI कहते है , और जब कोई भी business बैंक RBI से credit लेती है तो RBI भी premium लेता होगा ? और जो financing cost पर RBI दुसरे बैंक को credit देती है उसी rate को repo rate कहते है |

Repo Rate Ka Matlab Kya Hai? 

अगर ऊपर में जो model दे कर समझाया हूँ वो समझ नही आया तो एक ऐसा model दे रहा हूँ जो की आपके genuine लाइफ से जुडी है इसलिए इसको तो आप पक्का समझेंगे , मान लीजिये की आप अपने territory में किसी जान पहचान वाले के पास पैसा advance पर लेने के लिए गये मतलब की उनको जा कर बोलेंगे की ब्याज पर कुछ पैसा उधार दे दीजिये तो वो कहेंगे की मेरे पास तो फिलाहल पैसा नही है लेकिन किसी जान पहचान वाले से पैसा लेकर आप जरुर देंगे फिर वो अपने किसी रिश्तेदार से 2% महीना के rate से ब्याज पर पैसा लेकर आपको 3% महीना ब्याज के rate से उधार देंगे तो ऐसे में 2% rate जो हुआ उसको repo rate समझ सकते है |
Previous
Next Post »